Gaziyabad U.P. India Politics

आज दिनांक 3 दिसम्बर 2019 को ग़ाज़ियाबाद के विवेकानन्द क्षेत्र में आम आदमी पार्टी के सौजन्य से भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेन्द्र प्रसाद जी की जयंती के उपलक्ष्य में अधिवक्ता दिवस मनाया गया।

 

इस अवसर पर वक्ताओं ने बताया कि भारत में, ‘अधिवक्ता दिवस’ प्रत्येक वर्ष 3 दिसंबर को मनाया जाता है। यह भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ० राजेन्द्र प्रसाद का जन्म दिवस है। उनका जन्म 3 दिसंबर, 1884 को बिहार के एक छोटे से गांव जीरादेई में हुआ था।

डॉ० राजेन्द्र प्रसाद स्वयं एक विद्वान अधिवक्ता थे। वह भारतीय स्वाधीनता आंदोलन के प्रमुख नेताओं में से थे जिन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष के रूप में प्रमुख भूमिका निभाई। उन्होंने भारतीय संविधान के निर्माण में भी अपना योगदान दिया था। वे स्वतंत्र भारत के प्रथम राष्ट्रपति थे। उन्होंने 12 वर्षों तक राष्ट्रपति के रूप में कार्य करने के पश्चात वर्ष 1962 में अपने अवकाश की घोषणा की। सम्पूर्ण देश में अत्यन्त लोकप्रिय होने के कारण उन्हें राजेन्द्र बाबू या देशरत्न कहकर पुकारा जाता था। उनके उत्कृष्ट कार्यों के लिए भारत सरकार द्वारा वर्ष 1962 में उन्हें देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। जिसका आयोजन तरुणिमा श्रीवास्तव प्रदेश प्रवक्ता ने किया

आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह जी इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे जिन्होंने सम्मान पत्र देकर अधिवक्ताओं को सम्मानित किया। सभाजीत सिंह जी ने कहा कि अपने चट्टान सदृश्य आदर्शों एवं श्रेष्ठ भारतीय मूल्यों के लिए राष्ट्र के लिए डॉ० राजेन्द्र प्रसाद सदैव प्रेरणास्रोत बने रहेंगे।
सम्मानित किए गए अधिवक्ताओं में अक्षय आर्य, पूर्णिमा जी, शरदेंदु शर्मा, मनोज त्यागी, एकता कुशवाहा, मुकेश आनन्द, साधना जादौन आदि रहे। इस अवसर पर प्रदेश सचिव मीनाक्षी श्रीवास्तव, छात्र इकाई के प्रदेश अध्यक्ष वंशराज दुबे, महिला विंग की प्रदेश अध्यक्षा नीलम यादव, प्रदेश सचिव विनय पटेल, जिलाध्यक्ष चेतन त्यागी, पेरेंट्स असोसिएशन की अध्यक्षा एवं ग़ाज़ियाबाद की वरिष्ठ समाज सेविका सीमा त्यागी, अरुण गुप्ता, ममता सिंह, डॉ गौरव चौहान, राजेश राव आदि लोग मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

कार्यक्रम का आयोजन तरुणिमा श्रीवास्तव ने किया तथा मंच संचालन जाने माने युवा कवि स्वदेश यादव ने किया।