Dehli Education India

कथा-संगोष्ठी श्रृंखला – 4 के अंतर्गत में अपनी बात प्रमुखता से रखते हुए प्रख्यात दलित चिंतक एवं साहित्यकार के के कुसुम “वियोगी”

कथा-संगोष्ठी श्रृंखला – 4 के अंतर्गत में अपनी बात प्रमुखता से रखते हुए प्रख्यात दलित चिंतक एवं साहित्यकार के के कुसुम “वियोगी”
कथाकार प्रो.डा.राहिला रईस की कहानी ” परोपकार ना बाबा ना ” एवं कथाकार/पत्रकार श्रीराम शर्मा की कहानी ” चमत्कार ” पर वक्तव्य देते हुए कवि/कथाकार डा.कुसम वियोगी सदस्य, हिंदी अकादमी ( दिल्ली ) ! मंचासीन हिंदी अकादमी दिल्ली सचिव माननीय डा.जीतराम भट्ट जी, वरिष्ठ कथाकार एवं पत्रकार अवधेश श्रीवास्तव, कवि/साहित्यकार हरीश‌अवस्थी विशेषकर उपस्थिति रहे !

About the author

Samta Awaz

Add Comment

Click here to post a comment